मैग्मा फाइनेंस की अनूठी पहल,जरूरत मन्दो को आर्थिक,मानसिक उत्थान,स्वस्थ व समृद्ध भारत की पहचान!

कोलकाता

 देश की अग्रणी फाइनेंस कंपनी मैग्मा अपने सीएसआर कार्यक्रम के तहत मैग्मा यम- स्कॉलर 2020 20 में मेधावियो की सूची जारी की है इस सूची में लड़कियों ने लड़कों की तुलना में बाजी मार लिया है ।कोलकाता स्थित मैग्मा फाउंडेशन में मैग्मा पुरस्कार 2020 के लिए मेरिट की घोषणा करते हुए कहा है कि जो परिवार किसी कारण से अपने मेधावी बच्चों को पढ़ाने में अक्षम हैं या पढ़ा नहीं पाते ऐसे लोगों के लिए मैग्मा एक बरदान की लाइफ लाइन लेकर के आई है ,मैग्मा वैश्विक स्तर पर मेधावी यों की पहचान बनाने के लिए और देश की प्रतिभा को निखारने के लिए 400 छात्रों को इसके पूर्व भी एम -स्कॉलर के माध्यम से सहायता प्रदान कर चुकी है।


 उनकी एक विज्ञप्ति के अनुसार 500 विद्यार्थी इसका लाभ उठाएंगे ।बताते हैं कि 2020 20 के लिए 1200परतभागियो ने भाग लिया और जाँच के बाद 825 प्रतिभागी बचे, जिसमें 12 राज्यों के 108 लोगों को फिलहाल प्रतीक्षा सूची में डाल दिया गया है 100 के लगभग लोगों को फिलहाल मैग्मा ने नवाजा  है ।कुल मिलाकर के 48 पुरुष व 52 महिलाओं को इस सम्मान का हकदार पाया गया है चुने हुए छात्रों को अनेक प्रकार की सुविधाएं देने के साथ ही साथ 3500रुपए प्रतिमाह की छात्रवृत्ति और गरीब पृष्ठभूमि के लोगों को विशेष सुविधा प्रदान करने के लिए मैग्मा फाइनेंस के सीएसआर प्रोजेक्ट में काम करना आरंभ किया है ।

इसमें गरीबी की रेखा के नीचे से ऊपर लाने के लिए मजदूरी ,वाहन चालक राजमिस्त्री ,साइकिल ,मोबाइल रिपेयरिगआदि अनेक प्रकार की संभावनाओं विचार किया जा रहा है ।मैग्मा लिमिटेड सीएसआर के प्रमुख कौशिक सिन्हा ने सूची जारी करते हुए कहा है कि गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा एक सफल राष्ट्र की रेट है एम-स्कॉलर परियोजना के निवेश के माध्यम से मैग्मा आर्थिक पृष्ठभूमि से पिछड़े बच्चों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है ,जिसके माध्यम से सबसे छोटे सपने निवेश के ध्येय वाक्यं का पालन करती है ,इसमें लगभग 15 से 18 आयु वर्ग के बीच जो बच्चे 50% स्कूल छोड़ देते हैं उन्हें फिर से शिक्षा और राष्ट्र के मुख्य धारा में लाने का काम मैग्मा फाइनेंस का सीएसआर प्रोजेक्ट कर रहा है । फिलहाल छात्रों के भविष्य को संवारने में लगा हुआ है जिसमें अनेक प्रकार के कारपोरेट असाइनमेंट भी प्राप्त हो रहे हैं राष्ट्र के उत्थान में अपनी भूमिका का निर्वहन कर रही है और मैग्मा का विश्वास है कि ये बच्चे भविष्य में किसी भी क्षेत्र में जाकर अच्छे व्यापारी ,अच्छे नेता ,अच्छे प्रशासक ,अच्छे कारपोरेटर बन सकते हैं ।मैग्मा की पहल 


 दीर्घकालीन दृष्टिकोण और शहरी भारत पर केंद्रित है ।

सर्व समाज के साथ समभाव का दृष्टिकोण, राष्ट्रहित प्रथम, अच्छी शिक्षा अच्छा स्वास्थ्य के लिए पर्यावरण विकास क्षेत्र में मैग्मा का योगदान निरंतर बढ़ता जा रहा है.समाज मे ऐसी कम ही संस्थाए है जो स्वान्तः सुखाय से हट कर समाज हित ओर देश हित का ख्याल करती है।

Comments
Popular posts
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
साई बाबा के पिता पिंडारी मुसलमान थे,इनका काम भारत मे लूटपाट करना था
Image
कलक्टर बस्ती का आग्रह सब योगदान करें टीका अभियान में!
Image
यूपी की बाराबंकी जेल में 26 कैदी एचआईवी पॉजीटिव मिलने से हड़कंप
Image