पराकाष्ठा दुस्साहस की !!,कानून को चुनोती व नागरिकों को दहशत देते कदाचारी !

 दुस्साहसियों ने रौंदी योगी की कानून व्यवस्था

नागरिकों में दहशत।

मनोज श्रीवास्तव,लखनऊ,भारत 20 दिसम्बर

बलात्कार पीड़िता के भाई को ही बलात्कारियों ने घण्टों बनाया बन्धक !

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार देश-प्रदेश के दौरे पर रह रहे हैं, राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति ध्वस्त होती जा रही है, पुलिस कहती है कि अपराधी दूसरे समुदाय के हैं बताने से कहीं माहौल न बिगड़ जाय इस लिये दुराचारियों के नाम पुलिस नहीं बता रही है। मामला हापुड़ जिले की कोतवाली गढ़ के एक गांव का है। जहां शनिवार को अपनी दादी के साथ जा रही 12 साल की बच्ची को चार युवक खेत में खींच लिया और गैंगरेप किया। पीड़ित परिवार ने कोतवाली में तहरीर दी, पुलिस ने लड़की को मेडिकल के लिए भेज दिया और आरोपियों की तलाश में दबिश दी। पुलिस अधीक्षक हापुड़ ने बताया कि कोतवाली के गांव में शनिवार दोपहर डेेेढ़ बजे दादी-पोती जंगल में बींड काटने के लिए गई थी। दादी जंगल में आगे चल रही थी जबकि 12 वर्षीया पोती पीछे चल रही थी। इसी दौरान बच्ची पीछे से लापता हो गई, दादी आधा घंटे तक अपनी पोती को आवाज मारते हुए तलाशती रही लेकिन कुछ पता नहीं लगा। इसी दौरान नाबालिग बच्ची का भाई भी बींड लेने जंगल पहुंच गया। उसने खेत में कुछ युवकों भागते देखा, जबकि बहन नग्नावस्था में बेहोश पड़ी थी। वह युवकों के पीछे दौड़ता हुआ पड़ोस के गांव पहुंच गया, जहां तीन घंटे तक उसके भाई को बैठाए रखा और पंचायत में फैसले का दवाब बनाया जाता रहा। परिवार रात को साढ़े आठ बजे थाने पहुंचा और चार युवकों के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने पीड़िता को मेडिकल कराया और तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में दुस्साहस की पराकाष्ठा यह रही कि घटना के 4 घंटे बाद तक पीड़ित परिवार को ही डराने तथा समझाने में आरोपियों के परिवार तथा गांव वाले जुटे रहे। पंचायत में आरोपियों को गधे पर बैठाने को भी कहा गया। पीड़िता के परिवार वालों ने बताया कि कि आरोपी दूसरे वर्ग के हैं। पंचायत में चार घंटे तक फैसले का दबाव बनाते रहे। बताया कि उन्हें धमकी दी गई कि बदनामी हो जाएगी। साथ ही इसको तीन साल के लिए जेल जाना पड़ेगा, क्योंकि हम पुलिस से कह देंगे कि झूठा आरोप लगा रही है। इसके अलावा पैसे का भी लालच दिया गया। 

ऑटोचालक को गन  से दबाव बनाया

दूसरा मामला बरेली का है जहां शनिवार को घने कोहरे का फायदा उठाकर बदमाशों ने लूट करके भागना चाहा, लेकिन एक बहादुर ऑटो चालक की वजह से वह सीधा पुलिस के पास पहुंच गये। लूट के बाद ऑटो चालक जितेंद्र को 5 बदमाशों ने गनप्वॉइंट पर उनके ठिकाने पर पहुंचाने को कहा। बंदूक के डर से जितेंद्र मान तो गया,उसके हिम्मत से काम लेने के कारण बदमाश जेल पहुंच गये। 

शनिवार रात इज्जतनगर थाना क्षेत्र के छ‍ितूपुरा के रहने वाले र‍िंकू और अंक‍ित र‍िठौरा बाजार से बाइक से घर लौट रहे थे। जब पीलीभीत रोड स्‍थ‍ित कलांपुर पुल‍िया से वह दोनों गांव की तरफ बढ़े, तो वहां पहले से घात लगाए बैठे 5 बदमाशों ने हथ‍ियार द‍िखाकर उनको रोक ल‍िया। बदमाशों ने अंक‍ित से 14 हजार और रिंकू से 4 हजार रुपये लूट ल‍िए. इसी दैरान छ‍ितूपुरा का रहने वाला ज‍ितेंद्र पटेल टेम्‍पो लेकर वहां से गुजरा, तो बदमाशों ने उसे भी गोली मारने की धमकी देकर उससे कैश लूट ल‍िया। इतना ही नहीं, बदमाशों ने ज‍ितेंद्र को गन प्‍वॉइंट पर टेम्‍पो से अपने ठ‍िकाने तक पहुंचाने को कहा। गोली के डर से ऑटो चालक ने पांचों बदमाशों को ऑटो में बैठा ल‍िया।इसके बाद अहलादपुर चौकी के पास पहुंचने पर ज‍ितेन्‍द्र ने चालाकी द‍िखाते हुए टेम्‍पो को सड़क क‍िनारे खाई में पलट द‍िया। इसमें बदमाशों के साथ ज‍ितेन्‍द्र को भी चोटें आईं। चीख-पुकार सुनकर इज्‍जतनगर पुल‍िस की गश्‍ती टीम वहां पहुंच गई।पूछताछ करने पर सच्‍चाई सामने आ गई और पुल‍िस ने तीन बदमाशों को पकड़ ल‍िया। जबिक कोहरे का फायदा उठाकर दो लुटेरे भागने में कामयाब रहे।पकड़े गए बदमाश शाह‍िद और फारुख को गंभीर चोट लगीं।मौके से उनके साथी साज‍िद को भी दबोच ल‍िया। 

पुल‍िस ने घायल बदमाश शाह‍िद और फारुख को इलाज के ल‍िए अस्‍पताल भेजा, इलाज के दौरान शाह‍िद की मौत हो गई और फारुख के पैर में फ्रैक्‍चर हो गया। पुल‍िस बाकी 2 फरार साथ‍ियों की तलाश में जुटी है। एसएसपी रोह‍ित स‍िंह सजवाण ने लूट का श‍िकार होने के बाद अपनी जान पर खेलकर बदमाशों को पकड़वाने वाले ऑटो ड्राइवर की सराहना की है और उसे 5 हजार रुपये का ईनाम भी दिया। साथ ही, बरेली पुलिस ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों ने पूछताछ में 8 लूट की वारदात कबूली हैं. पुलिस को उम्मीद है फरार लूटेरों को पकड़े जाने पर और भी घटनाओं का खुलासा हो सकता है। तीसरी घटना भी बरेली की ही है। जहां एक जज को गोली से उड़ाने की धमकी मिली। 

इंतिक्रप्सन जज को बदमाशो ने लिखा पत्र!

 करप्शन कोर्ट के स्पेशल जज को एक सिरफिरे ने चिट्ठी लिखकर परिवार समेत उड़ाने, नेस्तनाबूद करने की धमकी दी। उसने कहा कि जेल में बंद चुन्नीलाल को जमानत पर छोड़ दो, वरना अंजाम भुगतना होगा। स्पेशल जज ने चिट्ठी मिलने के बाद हाईकोर्ट और शासन को पत्र भेजकर सुरक्षा की गुहार की है। कोतवाली में आरोपी के खिलाफ धमकी देने के मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है।एंटी करप्शन कोर्ट के जज को लिखे पत्र में उसने अपना पता फहीम पाकिस्तानी निवासी नया गांव मुर्रखपुर मुरादाबाद लिखा है। धमकी भरी चिट्ठी स्पीड पोस्ट के जरिये कोर्ट पहुंची। स्पेशल जज मोहम्मद अहमद खान को लिखी चिट्ठी में फहीम ने खुद को चुन्नीलाल का जिगरी दोस्त बताया। कहा कि उसके कहने पर वह कंप्यूटर ऑपरेटर की हत्या भी कर चुका है। अगर तुझे अपने परिवार को जिंदा रखना है तो चुन्नीलाल की जमानत मंजूर कर दे। तेरे सारे ठिकानों का पता लगा लिया है।किस खिड़की से गोली मारना है। इसका आइडिया लगाकर सब तैयारी कर ली गई है। हमारी टीम 30 अक्टूबर से इस काम को अंजाम देने में लगी है। स्पेशल जज मोहम्मद अहमद खान ने इसकी शिकायत हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार हाइकोर्ट, डीएम और एसएसपी से की है। जज की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने फहीम पाकिस्तानी के खिलाफ धमकी देने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। आरोपी चुन्नीलाल 12 नवंबर से जिला जेल में बंद है। 

वह मुरादाबाद के महिला कल्याण विभाग में कनिष्ठ लिपिक है। बाबू के खिलाफ 19 लाख रुपए की अवैध तरीके से संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगा है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि धमकी देने के आरोपी ने जिस चुन्नी लाल का जिक्र किया है। वह चुन्नीलाल भ्रष्टाचार के आरोप में बंद बाबू ही हो सकता है। उसकी जमानत पर सुनवाई की तारीख शनिवार को नियत है। मुलजिम चुन्नीलाल पर संपत्ति से अधिक आय का मुकदमा विचाराधीन है। स्पेशल जज को मिली चिट्ठी हाथ की लिखी हुई है। चिट्ठी लिखने वाले ने कहा है कि वह जमानत मंजूर करने पर बेहतरीन दावत देगा। शिकायत करने वाले स्पेशल जज एंटी करप्शन कोर्ट मोहम्मद अहमद खान वर्तमान में एक सड़क दुर्घटना में घायल हो चुके हैं। इन दिनों मेडिकल लीव पर हैं। स्पेशल जज ने पुलिस प्रशासन से सुरक्षा दिलाए जाने की मांग की है। चौथी घटना आगरा की है, जहां बाइक सवार बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर अधिवक्ता को मौत के घाट उतार दिया। फायरिंग कर बदमाश आराम से फरार हो गए। मृत अधिवक्ता हरीश पचौरी प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था उसका कुछ लोगों से जमीनी विवाद भी चल रहा था। क्षेत्र में हुई अंधाधुंध फायरिंग से क्षेत्रीय लोगों में दहशत का माहौल है।बीच सड़क पर बाइक सवार दो युवक दिन दहाड़े वकील की हत्या कर फरार हो गये।सूचना पाकर थाने की फोर्स पहुंच गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि हत्या के कारणों का पता किया जा रहा है।

 गोरखपुर कलक्टर निवास के पास मोटरसाइकिल छीनने का असफल प्रयास!

पांचवी घटना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर की है। जहां डीएम आवास के पास शुक्रवार की रात बाइक सवार बदमाशों ने टहलकर घर लौट रहे एडीजे का मोबाइल छीनने का प्रयास किया। सूचना मिलते ही सीओ कैंट मौके पर पहुंच गए। सीसी फुटेज की मदद से पुलिस बदमाशों के बारे में छानबीन कर रही है। अपर सत्र न्यायाधीश/ विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम कोर्ट नंबर दो तैनात शुक्रवार को विश्वविद्यालय से टहलकर अपने आवास जा रहे थे। रात में आठ बजे डीएम आवास के पास पीछे से आए बाइक सवार तीन बदमाशों ने झपट्टा मारकर मोबाइल छीनने का प्रयास किया लेकिन सफल नहीं हुए। घटना की जानकारी अपर सत्र न्‍यायाधीश ने फोन से पुलिस व न्यायालय के उच्‍चाधिकारियों को दी। वीआईपी इलाके में एडीजे से मोबाइल लूटने की कोशिश की खबर मिलते ही पुलिस प्रशासन में खलबली मच गई। कैंट पुलिस ने हर‍िओम नगर की तरफ भागे बदमाशों की तलाश कर रही है।

Comments