आयुष कवच एप में होम्योपैथी को भी सम्मिलित किया जाय

कौटिल्य वार्ता
By -
0



बस्ती,उत्तर प्रदेश

आयुष कवच’ मोबाइल एप में होम्योपैथी को शामिल करने की मांग
बस्ती । होम्योपैथिक चिकित्सकों ने सरकार से आयुष विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा विकसित  ‘आयुष कवच’ मोबाइल एप में होम्योपैथी पद्धति को भी शामिल करने की मांग की है ।
रिसर्च सोसायटी ऑफ होम्योपैथी जिलाध्यक्ष डा. वी.के. वर्मा ने मांग किया कि होम्योपैथी को शामिल किया जाना आवश्यक है। इस पद्धति में रो प्रतिरोधक क्षमता बढाने की अनेक औषधियां पहले से ही उपलब्ध है।
 डा. वर्मा ने बताया कि इस संबंध में केंद्रीय होम्योपैथी परिषद के पूर्व वरिष्ठ सदस्य डॉ अनुरूद्ध वर्मा ने मुख्यमंत्री एवं आयुष मंत्री को पत्र लिखा है।  पत्र में कहा गया  है कि  आयुष विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा विकसित  ‘आयुष कवच’ मोबाइल एप लांच किया गया है जिसमे आयुर्वेद एवँ योग पद्धतियाँ शामिल हैं परंतु होम्योपैथी शामिल नहीं किया गया है। उन्होंने पत्र में बताया  है कि होम्योपैथी पद्धति  आयुष  में शामिल महत्वपूर्ण पद्धति है जिसे केंद्र एवं राज्य सरकार का पर्याप्त संरक्षण प्राप्त है साथ ही होम्योपैथी लोकप्रियता के आधार पर  देश में अपनाई जाने वाली दूसरे नंबर की पद्धति है। होम्योपैथी में शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता उत्पन करने वाली अनेक  औषधियां उपलब्ध हैं तथा होम्योपैथी की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह सरल, सुलभ, दुष्परिणाम रहित कम खर्चीली  पद्धति है फिर भी  आयुष विभाग द्वारा विकसित एप में होम्योपैथी शामिल नहीं है ।
पत्र में मांग की गई है कि आयुष विभाग  उत्तर प्रदेश द्वारा विकसित ‘आयुष कवच’ मोबाइल एप में होम्योपैथी पद्धति द्वारा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली औषधियों, होम्योपैथिक विशेषज्ञों द्वारा जनता के सवालों के जवाब, होम्योपैथी द्वारा रोगों के उपचार एवं कोविड 19 आदि की जानकारी एवँ सुविधाएँ  को शामिल किया जाएं जिससे जनता होम्योपैथी विधा के प्रति जागरूक हो सके तथा उसका अधिक से अधिक लाभ उठा सकें।




Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)