एक्यूप्रेशर पद्धति निर्विवाद रूप से अकाट्य व प्रमाणित है

 बस्ती, उत्तरप्रदेश

संस्थान का 22वां राष्ट्रीय/अन्र्तराष्ट्रीय सम्मेलन/वेविनार आज संस्थान के मुख्यालय में आरम्भ हुआ। मुख्य अतिथि के रुप में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं रक्षा राज्य मंत्री श्री श्रीपद नाइक जी ने गोवा में रहते हुए कार्यक्रम में भाग लिया। मुख्य अतिथि ने कहा कि एक्यूप्रेशर की क्षमता निर्विवाद रुप से अभूतपूर्व है और मुझे पूरा भरोसा है कि जल्द ही एक प्रमुख चिकित्सा विधा के रुप में स्थापित होगी। उन्होने कहा कि एक्यूप्रेशर संस्थान के माता प्रसाद खेमका महाविद्यालय प्रांगण में और संसद भवन के एनेक्सी में मैने उपचार का तरीका और परिणाम स्वयं देखा है और मैं इसके परिणाम से पूर्णतः आष्वस्त हॅू। उद्घाटन के अवसर पर ‘सरस्वती’(त्रैमासिक) शोधपत्रिका के तीनोे अंक का विमोचन किया गया और साथ ही दस षोध पत्र भी पढ़े गये। 


उद्घाटन समारोह के अवसर पर अपने वक्तव्य में संस्थान के अध्यक्ष श्री जे0पी0 अग्रवाल ने कोरोना काल की विषमताओं में भी एक्यूपे्रषर के बढ़ते प्रषिक्षण एवं उपचार की जानकारी दी, निदेषक श्री ए0के0 द्विवेदी ने बताया कि देष के साथ ही विदेषों तक विस्तार के कारण हमारा जो दायित्व बढ़ा है वह नई मंजिल प्राप्त करने के लिए हमें प्रेरित कर रहा है। श्री ए0पी0 सिंह ने भविष्य की योजनाओं की जानकारी दी। समन्वयक श्री के0सी0 गोयल ने स्वागत उद्बोधन प्रस्तुत किया। धन्यवाद ज्ञापन संस्थान के संस्थापक संरक्षक श्री श्याम सुन्दर सराफ ने किया। 
उद्घाटन के अवसर पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष (उपचार) श्री एम0के0 मिढा, श्री एस0पी0केसरवानी, प्रो.विशाल जायसवाल, एम0एम0 कूल, दुर्गादास, प्रोफेसर रामकुमार शर्मा , प्रो.ए.के.शुक्ला,प्रो.शाहरोज़ रिज़वी, प्रो.डॉ नवीन सिंह ,सी ई ओ अनिल शुक्ला, प्रो.राजेश वर्मा सहित देश विदेश के दो हजार से अधिक लोग शमिल थे। ज्ञात हो कि इस कार्यक्रम के बाद सुपर एडवांस ट्रेनिंग कार्यक्रम लगातार 30 नवम्बर
Comments